लखनऊ में क्रिकेट अकादमी

लखनऊ में क्रिकेट अकादमी

time:2021-10-16 09:46:04 एनपीएस में निवेश की उम्र सीमा बढ़कर हो सकती है 70 साल! Views:4591

कुसुम yojana लखनऊ में क्रिकेट अकादमी 188bet लाइव,casumo उत्तर स्विश,lovebet १८८,lovebet यूरो 2020,lovebet quora,lovebetासिया1,बैकारेट 10 पीस स्टोन,बैकारेट जेम्स बॉन्ड,बेसिक फुटबॉल हैंडीकैप टीचिंग,बेटिंग यारमाउथ,कैसीनो ग्रहण,कैसीनो वाई ट्रैगामोनदास,क्रिकेट 07 APK,क्रिकेट रैंकिंग 2020,एस्पोर्ट्स होटल,fl लॉटरी पोस्ट,फुटबॉल यू ऑफ एम,जुआरी के भगवान बैकरेट,फ़ुटबॉल में खाता कैसे खोलें,10cric कानूनी है,जंगल रम्मी पैसे निकासी,लाइव कैसीनो भारत,लॉटरी कैलकुलेटर,लूडो इंडिया,ओ पोकर कोमो नेगोसियो पीडीएफ,ऑनलाइन गेम कैंडी क्रश,ऑनलाइन पोकर आप दोस्तों के साथ खेल सकते हैं,परिमच यूएसए,पोकर ऑनलाइन यांग जुजुर,री क्रिकेट,ऑनलाइन रूले पर बेटिंग के नियम,रम्मीकल्चर फ्री कैश,स्लॉट मशीन जीतता है,खेल धौ,Sportskeeda.com हिंदी,टेक्सास होल्डम ज़ासाडी पीडीएफ,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल लाइव टीवी,किस कैसीनो की ऑनलाइन प्रतिष्ठा सबसे अच्छी है?,21 बजे hai,ऑनलाइन पैसे कैसे कमाएं,क्रिकेट उपसंहार,गोवा में,तीन पत्ती फ्री वाला गेम,बकरी चारा,बैकारेट up,स्टेटस अप्प्स, .एनपीएस में निवेश की उम्र सीमा बढ़कर हो सकती है 70 साल!

60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए भी एनपीएस अकाउंट खोलने और उसे कंटिन्यू करने का फैसला किया जा सकता है.
पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने अब नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने के लिए एंट्री की अधिकतम उम्र को 65 से बढ़ाकर 70 साल करने पर विचार कर रही है.

पीएफआरडीए के चेयरमैन सुप्रतिम बंदोपाध्याय ने इस बारे में कहा, "हम वास्तव में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए भी एनपीएस अकाउंट खोलने और उसे कंटिन्यू करने पर विचार कर रहे हैं हम चाहते हैं कि लोग 75 साल की उम्र तक एनपीएस में निवेश करते रहें."

इसे भी पढ़ें: देश में कोरोना संकट बढ़ने के साथ ही कई राज्यों में बढ़ी सख्ती

नेशनल पेंशन सिस्टम में अभी 70 साल की उम्र तक योगदान किया जा सकता है. बंदोपाध्याय ने कहा कि पिछले 3.5 साल में 60 साल से अधिक उम्र के करीब 15,000 लोगों ने एनपीएस ज्वाइन किया है. इसी अवधि में एनपीएस को ज्वाइन करने की उम्र सीमा 60 से बढ़ाकर 65 साल कर दी गई थी.

एनपीएस और अटल पेंशन योजना को नियंत्रित करने वाली पेंशन अथॉरिटी ने कहा है कि 31 मार्च तक एनपीएस के सब्सक्राइबर बेस में 23 फ़ीसदी का ग्रोथ देखा गया है. अब इसमें योगदान करने वाले लोगों की संख्या करीब सवा चार करोड़ हो गई है. अगर बात इन दोनों पेंशन योजनाओं के तहत कुल संपत्ति प्रबंधन की करें तो यह 5.78 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया है.

expansion-mode

बंदोपाध्याय ने कहा कि पिछले साल कोरोनावायरस की वजह से कई चुनौतियां आई लेकिन इसके बाद भी पेंशन योजना में निवेश करने वाले लोगों की संख्या और रकम दोनों बढ़ी है. पीएफआरडीए को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष में नेशनल पेंशन सिस्टम और अटल पेंशन योजना में 1 करोड़ से अधिक ग्राहकों को जोड़ा जा सकता है, पिछले वित्त वर्ष में इन दोनों पेंशन योजनाओं ने 83 लाख से अधिक ग्राहक जोड़े थे.

पेंशन नियामक वास्तव में एक प्रस्ताव पर विचार कर रहा है जिसमें पेंशन अमाउंट ₹3,00,000 तक होने पर पूरी रकम की निकासी की इजाजत दे दी जाए. इस समय पेंशन अकाउंट से ₹2,00,000 या उससे कम के रकम की निकासी की ही इजाजत दी गई है.

पीएफआरडीए जल्द ही एक रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल लेकर भी आने वाला है जिसमें एनपीएस के तहत किए जाने वाले निवेश पर मिनिमम गारंटीड पेंशन दिया जाएगा. यह वास्तव में पेंशन फंड मैनेजर को लाइसेंस पर 45 दिन का विंडो देने के साथ किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें: भारत से खुदरा बैंकिंग कारोबार समेट सकती है सिटी ग्रुप!

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें

टॉपिक

एनपीएससुप्रतिम बंदोपाध्यायपेंशन प्लाननेशनल पेंशन सिस्टमपीएफआरडीए

ETPrime stories of the day

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you
Cryptocurrency

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you

15 mins read
Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?
Markets

Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?

8 mins read
People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?
Banking

People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?

12 mins read

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.नियमित आमदनी के लिए इन पांच विकल्प में निवेश कर सकते हैं सीनियर सिटीजन

ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.फ्रैंकलिन टेम्पलटन के निवेशकों को इस हफ्ते मिलेंगे 2,962 करोड़ रुपये

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.सिप में क्यों करना चाहिए लंबे समय तक निवेश

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्लॉट 888 गीला

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.

lovebet बनाम बेट365

ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.

क्या आज रात कोई फ़ुटबॉल मैच है

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.

कैसीनो मैदान

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.

ऑनलाइन पोकर पैसे कमाते हैं

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी