कैटरीना समाचार

कैटरीना समाचार

time:2021-10-16 10:13:07 दिल्ली में बिजली की कटौती नहीं, मांग बृहस्पतिवार को घटकर 4,160 मेगावाट पर: मंत्रालय Views:4591

यूरोपीय कप फुटबॉल खेल वीडियो कैटरीना समाचार 10cric इंडिया रिव्यू,casumo ऐप,लियोवेगास समाचार,lovebet बेट स्लिप चेक,lovebet मोंटेनेग्रो,lovebet क्रिसमस खुलने का समय,एओ फुटबॉल मेरे पास,बैकारेट डुपे,बैकारेट झांकी,सट्टेबाजी का खेल असली पैसा,कैसीनो ८६,कैसीनो ताज महल,क्लासिक रम्मी खेल नियम,क्रिकेट आई पी एल 2020,क्या बैकरेट के पास कंप्यूटर गेम हैं,यूरोपीय फुटबॉल खेल आज रात,फुटबॉल प्रबंधक ऑनलाइन गेम,उत्पत्ति कैसीनो भारत,बैकारेट कैसे पैसा बनाता है,आईपीएल खेल APK,जैकपॉट प्रश्नोत्तरी प्रश्न,लाइव लाठी मिशिगन,लाइव रूले स्वागत बोनस,लॉटरी के परिणाम मॉरीशस,ना फुटबॉल शेड्यूल,ऑनलाइन कैसीनो रेत मकाऊ,असली पैसे के लिए ऑनलाइन पोकर,पैरिमैच क्रिकेट,पोकर f fahrradtrager,आर लॉटरी सांबाद,एक बसेरा पर राज करो,रम्मी स्टेशन,स्लॉट मशीन नतीजा 4,स्पोर्टपेसा जैकपॉट खेल विश्लेषण,स्पोर्ट्सबुक एक्सेलिबुर,टेक्सास होल्डम गाइड,आज फुटबॉल भविष्यवाणी,बैकारेट की यिन संख्या का क्या अर्थ है?,एक्स क्रिकेटर,इलेक्ट्रॉनिक खेल online,कैसीनो के खेल र,गोवा उपमुख्यमंत्री,झक्कास स्टेटस,फुटबॉल मैदान माप,बेटा पब जी मोबाइल लाइट,लॉटरी खेलने वाला,स्पोर्ट्स रनिंग शूज .दिल्ली में बिजली की कटौती नहीं, मांग बृहस्पतिवार को घटकर 4,160 मेगावाट पर: मंत्रालय

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) दिल्ली में बृहस्पतिवार को कोई बिजली कटौती नहीं हुई और बिजली की अधिकतम मांग बुधवार के 4,382 मेगावाट से घटकर 4,160 मेगावाट पर आ गयी। केंद्रीय बिजली मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

मंत्रालय के अनुसार, 14 अक्टूबर को राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम बिजली की मांग 8.9 करोड़ यूनिट (4,160 मेगावाट) थी, जिसे पूरा किया।

दिल्ली में बिजली आपूर्ति के बारे में शुक्रवार को ब्योरा जारी करते हुए कहा गया, ‘‘दिल्ली वितरण कंपनियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बिजली की कमी के कारण कोई कटौती नहीं हुई, क्योंकि उन्हें आवश्यक मात्रा में बिजली की आपूर्ति की गई।’’

मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली बिजली वितरण कंपनियों को 14 अक्टूबर 2021 को दादरी स्टेज-I से भी 756 मेगावाट बिजली का आवंटन किया गया और 95 लाख यूनिट बिजली की पेशकश की गई। हालाँकि, कंपनियों को अतिरिक्त आवंटन से बिजली लेने की जरुरत नहीं पड़ी।

आंकड़ों के अनुसार बिजली की अधिकतम मांग या एक दिन में सबसे अधिक आपूर्ति मंगलवार को 4,707 मेगावाट और बुधवार को 4,382 मेगावाट थी।

इस प्रकार आंकड़ों से पता चलता है कि शरद ऋतु की शुरुआत के साथ बिजली की मांग में कमी आई है।

मंत्रालय के अनुसार 29 सितंबर से 14 अक्टूबर तक महानगर में ऊर्जा की कोई कमी नहीं रही।

गौरतलब है कि बिजली वितरण कंपनियों ने पिछले सप्ताह अपने ग्राहकों को आगाह किया था कि तापीय ऊर्जा संयंत्रों को कोयले की कम आपूर्ति के कारण उन्हें बिजली की कमी का सामना करना पड़ सकता है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महानगर में बिजली की आपूर्ति करने वाले बिजली उत्पादन संयंत्रों को कोयले और गैस की पर्याप्त व्यवस्था करने में हस्तक्षेप करने के लिए पत्र लिखा था।

हालांकि, केंद्रीय बिजली मंत्रालय ने दिल्ली को कम बिजली आपूर्ति के दावों को खारिज कर दिया और केंद्रीय मंत्री आर के सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी को किसी भी कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you
Cryptocurrency

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you

15 mins read
Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?
Markets

Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?

8 mins read
People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?
Banking

People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?

12 mins read

मंजूरी मिलने के बाद करूर वैश्य बैंक (Karur Vysya Bank) ने CBDT के साथ इंटीग्रेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। अब बैंक के माध्यम से ग्राहक अपने डायरेक्ट टैक्स का भुगतान कर सकेंगे।नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने कहा कि यह स्तब्ध कर देने वाला है कि वैश्विक भूख सूचकांक में भारत की रैंक और घटी है और उसने रैंकिंग के लिए इस्तेमाल की गई पद्धति को ‘‘अवैज्ञानिक’’ बताया। भारत 116 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक (जीएचआई) 2021 में 101वें स्थान पर पहुंच गया है, जो 2020 में 94वें स्थान पर था। भारत अब अपने पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से पीछे है। रिपोर्ट पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा कि यह ‘‘चौंकाने वाला’’ है कि वैश्विक भूख रिपोर्ट 2021 ने कुपोषित आबादी केडीजीसीए ने स्पाइसजेट का खतरनाक सामान ले जाने का लाइसेंस अस्थायी रूप से निलंबित किया

(ललित के झा)वाशिंगटन, 15 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से कहा कि भारत सरकार ने 2025-26 तक राजकोषीय घाटे को कम कर 4.5 प्रतिशत पर लाने का लक्ष्य रखा है और अर्थव्यवस्था को वित्तीय रूप से मजबूती के रास्ते पर लाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।सीतारमण ने अंतर्राष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति को संबोधित करते हुए कहा कि भारत सरकार जरूरत पड़ने पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) को अतिरिक्त पूंजी प्रदान करने के लिए तैयार है और मुद्रास्फीति भी अपेक्षा से अधिक नीचे जा रही है।वित्त मंत्री अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष औरनयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने कहा कि यह स्तब्ध कर देने वाला है कि वैश्विक भूख सूचकांक में भारत की रैंक और घटी है और उसने रैंकिंग के लिए इस्तेमाल की गई पद्धति को ‘‘अवैज्ञानिक’’ बताया। भारत 116 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक (जीएचआई) 2021 में 101वें स्थान पर पहुंच गया है, जो 2020 में 94वें स्थान पर था। भारत अब अपने पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से पीछे है। रिपोर्ट पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा कि यह ‘‘चौंकाने वाला’’ है कि वैश्विक भूख रिपोर्ट 2021 ने कुपोषित आबादी केकानपुर में मालगाड़ी पटरी से उतरी: एक और ट्रेन कैंसिल; चेक कर लें लेटेस्ट अपडेट

हेग, 15 अक्टूबर (एपी) कीमतों में उछाल के बीच आम जनता को ऊर्जा बिलों में राहत देने के लिए नीदरलैंड सरकार अरबों यूरो का पैकेज देने की योजना बना रही है। एक मंत्री ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। यूरोपीय संघ में शामिल नीदरलैंड ऐसा पहला देश है जोकि बिजली और गैस की बढ़ती कीमतों के प्रभाव से निपटने के लिए तैयारी कर रहा है। नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रट के प्रशासन ने ऊर्जा करों में कमी करने की योजना बनायी है। आर्थिक एवं जलवायु मामलों की मंत्री दिलन येसिलगोज़-ज़ेगेरियस ने हेग में संवाददाताओं से कहा कि सरकार के इसनयी दिल्ली 15 अक्टूबर (भाषा) लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) ने शुक्रवार को उद्योग की जरूरत के अनुसार प्रतिभा तैयार करने के मकसद से एप्लिकेशन आधारित एक नए शिक्षण मंच शुरू करने की घोषणा की। कंपनी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि एलएंडटी एडुटेक उद्योग की जरूरत के अनुसार प्रतिभा तैयार करने में मदद करेगा। उसने कहा कि एलएंडटी एडुटेक का लक्ष्य एलएंडटी के कारोबार को भविष्य में सुरक्षित करने और युवा इंजीनियरों की क्षमता तथा उद्योग की अपेक्षाओं के बीच मौजूदा अंतर को कम करना है।कमजोर मांग के कारण चांदी वायदा कीमतों में गिरावट

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
पांच वाहनों का सबसे अच्छा परिवार

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) में सदस्य देशों के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ाने के लिए स्टार्टअप और नवोन्मेष पर एक नया विशेष कार्य समूह बनाने का प्रस्ताव दिया है। शुक्रवार को एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गयी। अनुप्रिया ने एसीसीओ की एक बैठक में वीडिया कांफ्रेंस के जरिए हिस्सा लिया। उन्होंने व्यापार और वाणिज्य में संतुलित और समान विकास के लिए एससीओ के सदस्यों के बीच प्रभावी सहयोग की जरूरत पर भी जोर दिया। अनुप्रिया ने कहा कि स्टार्ट-अप और नवाचार के क्षेत्र में सहयोग, अर्थव्यवस्थाओं

क्रिकेट त्रिपुरा

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनी ताला ने शुक्रवार को कहा कि उसने सीरीज-ई फंडिंग राउंड में 14.5 करोड़ डॉलर जुटाए हैं। अपस्टार्ट ने निवेश के इस दौर का नेतृत्व किया।नए निवेशक किंड्रेड वेंचर्स और जे. सफरा ग्रुप मौजूदा निवेशकों आईवीपी, रेवोल्यूशन ग्रोथ, लोअरकेस कैपिटल तथा पेपाल वेंचर्स के साथ इस दौर में शामिल हुए। इस निवेश के साथ ताला का कुल वित्तपोषण बढ़कर 35 करोड़ डॉलर हो गया।कंपनी ने एक बयान में कहा, "ताला अपने उपभोक्ता वित्त ऐप के माध्यम से अपने नए वित्तीय खाते का अनुभव शुरू करने में तेजी लाने के लिए इस निवेश का इस्तेमाल

lovebetभारत

(ललित के झा)वाशिंगटन, 15 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से कहा कि भारत सरकार ने 2025-26 तक राजकोषीय घाटे को कम कर 4.5 प्रतिशत पर लाने का लक्ष्य रखा है और अर्थव्यवस्था को वित्तीय रूप से मजबूती के रास्ते पर लाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।सीतारमण ने अंतर्राष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति को संबोधित करते हुए कहा कि भारत सरकार जरूरत पड़ने पर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) को अतिरिक्त पूंजी प्रदान करने के लिए तैयार है और मुद्रास्फीति भी अपेक्षा से अधिक नीचे जा रही है।वित्त मंत्री अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष और

हमें लॉटरी वीजा

बिटकॉइन (Bitcoin) में यह उछाल इस उम्मीद में आया है ​कि अमेरिकी नियामक, क्रिप्टोकरंसी के लिए पहले वायदा एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (First Future ETF for Cryptocurrency) को मंजूरी दे देंगे।

गोवा धीरे-धीरे

न्यूयॉर्क, 15 अक्टूबर (एपी) वित्तीय सेवा कंपनी गोल्डमैन सैक्स के मुनाफे में चालू वर्ष की तीसरी तिमाही में 60 फीसदी का उछाल आया है। न्यूयॉर्क स्थित कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि उसने तीसरी तिमाही में 5.28 अरब डॉलर का मुनाफा कमाया है। प्रति शेयर यह 14.93 डॉलर है। जबकि एक साल पहले इसी अवधि में कंपनी ने 3.23 अरब डॉलर लाभ कमाया था जो 8.98 डॉलर प्रति शेयर के बराबर था। कंपनी का यह परिणाम विश्लेषकों के अनुमान

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
सट्टेबाजी कैसीनो

(ललित के झा) वाशिंगटन, 15 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत कम आय वाले देशों को टीके उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के खिलाफ एक सफल वैश्विक अभियान को लेकर सबके लिए टीके की उपलब्धता सुनिश्चित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। सीतारमण ने अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति को संबोधित करते हुए कहा कि इस समय जारी महामारी का अर्थव्यवस्थाओं और समाज के संचालन के तरीके पर एक स्थायी प्रभाव पड़ सकता है।उन्होंने कहा कि विकसित देशों के साथ-साथ प्रमुख उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं (ईएमई) में टीकाकरण की उच्च दर

क्रिकेट की तारीख

(ललित के झा) वाशिंगटन, 15 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत कम आय वाले देशों को टीके उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के खिलाफ एक सफल वैश्विक अभियान को लेकर सबके लिए टीके की उपलब्धता सुनिश्चित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। सीतारमण ने अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति को संबोधित करते हुए कहा कि इस समय जारी महामारी का अर्थव्यवस्थाओं और समाज के संचालन के तरीके पर एक स्थायी प्रभाव पड़ सकता है।उन्होंने कहा कि विकसित देशों के साथ-साथ प्रमुख उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं (ईएमई) में टीकाकरण की उच्च दर