करीना कपूर

Publishing time:2021-10-16 09:53:27

शतरंज के खेल करीना कपूर to lovebet.net,fun88 जिया थूओंग,lovebet 35/1 इंग्लैंड,lovebet ग्रेहाउंड्स a-z,सऊदी अरब में lovebet स्पोर्ट वॉच की कीमत,lovebetक्स का अर्थ है,बैकारेट 911,बैकारेट को सट्टेबाजी का तरीका जीतना होगा,सर्वश्रेष्ठ पांच वीपीएन,बोनस अर्थ,गोवा में कैसीनो,शतरंज 60 चाल नियम,क्रिकेट एयू बनाम भारत,क्रिकेट आभासी पृष्ठभूमि,एस्पोर्ट्स टीम का नाम,फुटबॉल खाता खोलना,मुफ़्त अनुभव गोल्ड जुआ नेटवर्क,खुश किसान एयरड्रॉप,स्टॉक का ऑनलाइन व्यापार कैसे करें,क्या कोई औपचारिक जुआ ऑनलाइन है,ख फुटबॉल क्लब,लाइव कैसीनो स्पोर्ट्सबुक,लॉटरी आई कैंप,लूडो सुप्रीम गोल्ड APK,ऑनलाइन बैकरेट सही और गलत,ऑनलाइन गेम मिनीक्राफ्ट,ऑनलाइन स्लॉट फ्लोरिडा,पॉइंट रम्मी गेम्स,पोकर विश्वविद्यालय,रूले इंडिया ऑनलाइन,रम्मी 9 कार्ड,रम्मीकल्चर साइन अप,स्लॉट 9999,स्पोर्ट्स लाइव टीवी ऐप डाउनलोड,बैकरेट जोड़े की तकनीक,सबसे तेज़ ऑन-साइट कोड रिपोर्टिंग रूम,वीडियो बैकारेट मशीनें लास वेगास,कौन सी वेबसाइट बैकरेट खेल सकती है,cricket न्यूज़,औकात स्टेटस मराठी,क्रिकेट धोनी विराट कोहली,चेस चैंपियनशिप,दस स्कोर टाइम्स लॉटरी,बरसात ठंडा पानी,रमी खेलने का तरीका,स्टेटस जो हिला दे 2021, .अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सर्वे के अनुसार, घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की.
नई दिल्ली : भारत में काम करने वाली करीब 87 फीसदी कंपनियां 2021 में कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की योजना बना रही हैं. इसके मुकाबले 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने ही वेतन में वृद्धि की. ग्‍लोबल प्रोफेशनल सर्विसेज फर्म एओन के सर्वे से इसका पता चलता है.

सर्वे के अनुसार, कोरोना संकट से प्रभावित अर्थव्यवस्था के दौर में घरेलू बाजार में काम कर रही कंपनियों ने इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसत 6.1 फीसदी की वृद्धि की. यह पिछले एक दशक में सबसे निचला स्तर है. हालांकि, अगले साल औसत वेतनवृद्धि 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है.

इसे भी पढ़ें : घर खरीदने के लिए क्‍या यह सबसे अच्‍छा समय है?

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है. 2020 में करीब 71 फीसदी कंपनियों ने वेतन में वृद्धि की. जबकि 2021 में 87 फीसदी कंपनियां वेतनवृद्धि करने के पक्ष में हैं.

सर्वे के मुताबिक, भारत में औसत वेतनवृद्धि 2020 में 6.1 फीसदी रही. यह 2009 के 6.3 फीसदी के औसत से भी नीचे है. एओन के 'सैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडिया' में कहा गया है कि अगले साल कंपनियां वेतन में औसत 7.3 फीसदी की वृद्धि करेंगी. एओन ने इसके लिए 20 से अधिक इंडस्‍ट्रीज की 1,050 कंपनियों के बीच सर्वे किया था.

सितंबर-अक्टूबर 2020 की स्थिति तक 87 फीसदी कंपनियों ने 2021 में वेतनवृद्धि देने की प्रतिबद्धता जताई. जबकि इसमें 61 फीसदी कंपनियों ने कहा कि वे पांच से 10 फीसदी की वेतनवृद्धि देंगी.

इसे भी पढ़ें : होम लोन की मांग बढ़ने से बैंकों में छिड़ी ब्‍याज दर घटाने की जंग

वर्ष 2020 में 71 फीसदी कंपनियों ने वेतनवृद्धि दी. इसमें से 45 फीसदी ने पांच से 10 फीसदी के बीच वेतनवृद्धि दी. एओन में पार्टनर और सीईओ (परफॉर्मेंस एंड रिवॉर्ड सॉल्‍यूशंस) नितिन सेठी ने कहा, ''यह एक अनोखा साल है. कंपनियां अपने कर्मचारियों और ग्राहकों में निवेश कर रही हैं. कोविड-19 के गहरे असर के बावजूद कंपनियों ने कर्मचारियों को लेकर परिपक्‍व और लचीला रुख दिखाया है.''

हाई-टेक, आईटी, आईटीईएस, लाइफ साइंसेज, ई-कॉमर्स, केमिकल्‍स और प्रोफेशनल सर्विसेज ऐसे सेक्‍टरों में हैं जिनमें सबसे ज्‍यादा वेतनवृद्धि होने के आसार हैं.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

वेतनवृद्धिसैलरी ट्रेंड्स सर्वे इन इंडियाकंपन‍ियांएओनसैलरी में बढ़ोतरीसर्वे

ETPrime stories of the day

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you
Cryptocurrency

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you

15 mins read
Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?
Markets

Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?

8 mins read
People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?
Banking

People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?

12 mins read
अगले साल 87% कंपनियां बढ़ाएंगी वेतन : सर्वे

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.फ्रैंकलिन टेम्पलटन एमएफ से आपको अपना निवेश कब निकालना चाहिए?

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.कोविड के बीच जानिए कहां मिल रही हैं नौकरियां

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.लगातार अच्‍छा रिटर्न चाहते है? इस फंड में लगा सकते हैं पैसा

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


बकरा ईद कब है 2020
स्पोर्ट्स लोअर डिजाईन
lovebet जोकर गीला
फ़ुटबॉल और कुलिच्की
लॉटरी टिकट खेली
cricket बज
त्रिपुरा लॉटरी संबंध
इलेक्ट्रॉनिक खेल website
lovebet लॉगिन एपीके
खुश किसान पियानो
कैसीनो जीतने के गुर
टेक्सस होल्डम ज़साडी
पूल रम्मी कैसे खेले
भारत शर्त संपर्क नंबर
सट्टेबाजी अनुपात का विश्लेषण
ऑनलाइन कैसे बनाएं
मछली पकड़ने की भीड़ नदी
भ फुटबॉल ट्विटर
यूईएफए चैंपियंस लीग स्कोर भविष्यवाणी
यूरोपीय कप क्वालीफायर स्टैंडिंग
गोल्डन कैसीनो का अनुभव करने के लिए साइन अप करें
सर्वश्रेष्ठ पांच अभ्यास
स्टेटस छत्तीसगढ़
10cric ऑनलाइन बेटिंग
कैसीनो ज़ी5 समीक्षा
डी कैसीनो सूरत
नकद देने के लिए बैकरेट साइन अप करें