क्लासिक रम्मी कैश ऐप

Publishing time:2021-10-16 10:01:34

betway का हिंदी अर्थ क्लासिक रम्मी कैश ऐप betway क्रिकेट,fun88 मोबाइल ऐप,lovebet 4 इस सप्ताह स्कोर करने के लिए,lovebet हेल्पलाइन,lovebet टा बोर्त,१० क्रिकेट,बैकरेट एजेंसी वेबसाइट,बैकारेट तेल,सर्वश्रेष्ठ जंबो पांच साल की सीडी दरें,बोन्स ज़ेन,कैसीनो का खेलो,शतरंज 960 रणनीति,क्रिकेट पुस्तक चरित्र,क्रिकेट विश्व कप जीके पीडीएफ,यूरो फुटबॉल,फ़ुटबॉल औ ज्यूक्स ओलम्पिकसवाल,जी कैसीनो कोवेंट्री,खुश किसान कुत्ता खाना,मैं लवबेट तक नहीं पहुंच सकता,जे पोकर,ला कैसीनो मेरे पास,लाइव कैसीनो वीआईपी,लॉटरी जीतने का टोटका,लूडो व्हाट्सएप ग्रुप,ऑनलाइन कैश बैकरेट गेम,ऑनलाइन गेम फ्री फायर खेलें,ऑनलाइन स्लॉट इलिनोइस,बिंदु रम्मी ज़ूम,पोकर युद्ध मशीनें,रूले लाइव गोल्डबेट,रम्मी सर्कल कस्टमर केयर मोबाइल नंबर,रम्मीकल्चर निकासी डाउनलोड,स्लॉट्स ई स्लैट्स,खेल समाचार सुर्खियों,तीन पत्ती दैनिक बोनस,सबसे गर्म बोर्ड गेम पिंग,बैकरेट पेपर रोड का दृश्य,वाइल्डज़ बोनस कोड ओहने आइंज़ाहलुंग,cricket हिंदी न्यूज़,करीना घंटाघर घुमा,क्रिकेट भर्ती फॉर्म,चेस रूल्स,पक्षी और जानवर मल्टीप्लेयर संस्करण,बरसात फिल्म का गाना,रमी प्रो,स्टेटस तिरंगा, .बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

ज्यादातर रिटायर हो चुके लोग सिर्फ फिक्‍स्‍ड इनकम ऑप्‍शन में निवेश करते हैं. इसका मतलब है कि कम ब्‍याज दरें उनके लिए फायदेमंद नहीं हैं.
31 मार्च को वित्त मंत्रालय ने छोटी बचत स्कीमों के लिए तिमाही ब्याज दरों का एलान किया. कुछ घंटे बाद ही उसने दरों को बहाल कर दिया. सरकार ने पहले ब्याज दरों में बड़ी कटौती की थी. उदाहरण के लिए सीनियर सिटीजन सेविंग्‍स स्‍कीम (एससीएसएस) की दरें 7.4 फीसदी से घटाकर 6.5 फीसदी कर दी गई थीं. पीपीएफ के मामले में दरों का 7.1 फीसदी से घटाकर 6.5 फीसदी किया गया था.

ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया. कुछ अर्थशास्त्रियों ने इस फैसले की आलोचना की. उनका कहना था कि ये दरें मार्केट से लिंक हैं. इन्‍हें गिल्‍ट रेट की तर्ज पर घटाना सही है. फिर ब्‍याज की दरें कितनी भी कम क्‍यों न हो जाएं.

सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए कि सीनियर सिटीजन को ब्याज दर के मामले में स्पेशल डील मिले. कारण है कि इनके पास इनकम का कोई और जरिया नहीं होता है. अर्थव्यवस्था में ब्याज दरें घट रही हैं. पूंजी को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्कीमों के साथ ब्याज दरों को घटाने में बुराई नहीं है. हालांकि, एससीएसएस को इसमें अपवाद के तौर पर देखना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : यूलिप और म्यूचुअल फंड में इन 5 बड़े अंतरों को जान लें, होगा फायदा

एससीएसएस में बुजुर्ग पैसा लगाते हैं. इसका इस्तेमाल चक्रवृद्धि ब्‍याज दर जेनरेट करने के लिए नहीं होता है. न ही दौलतमंद बनने के लिए. अलबत्ता यह इनकम के स्रोत की तरह है. स्‍कीम में निवेश करने की न्यूनतम उम्र 60 साल है. इसमें अधिकतम 15 लाख रुपये लगाया जा सकता है. इसके अलावा इंटरेस्ट इनकम पूरी तरह टैक्सेबल है.

इसे भी पढ़ें : सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

मेरा मानना है कि सीनियर सिटीजन सेविंग्‍स स्‍कीम पर ब्‍याज दर बढ़नी चाहिए. साथ ही इसमें निवेश की लिमिट भी बढ़ाने की जरूरत है. इसके पीछे कई कारण हैं. जहां कम महंगाई और ब्‍याज दरों का इकनॉमिक ग्रोथ पर सकारात्मक असर होता है. वहीं, रिटायर हो चुके लोगों को इसका फायदा नहीं होता है. ये कमाई और उसे बढ़ाने के दौर से निकल चुके होते हैं. ज्यादातर रिटायर हो चुके लोग सिर्फ फिक्‍स्‍ड इनकम ऑप्‍शन में निवेश करते हैं. इसका मतलब है कि कम ब्‍याज दरें उनके लिए फायदेमंद नहीं हैं. सच तो यह है कि इससे उन्‍हें नुकसान होता है. कारण है कि व्‍यक्त‍िगत महंगाई की दर हमेशा औपचारिक महंगाई की दर से ज्‍यादा होती है.

यह विडंबना है कि मार्केट-लिंकिंग की व्यवस्था की बात करने वाले उस वर्ग के लोग हैं जो वास्तव में कभी ऐसे डिपॉजिट पर निर्भर नहीं रहे हैं. इसे अमल में लाने वाले लोग भी वे हैं जो गारंटीशुदा पेंशन पाते हैं. यह महंगाई के साथ बढ़ती रहती है.

(लेखक वैल्‍यू रिसर्च के सीईओ हैं.)

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

एससीएसएससीनियर सिटीजन सेविंग्‍स स्‍कीमबुजुर्गज्‍यादा ब्‍याजब्‍याज दरछोटी बचत स्‍कीमें

ETPrime stories of the day

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you
Cryptocurrency

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you

15 mins read
Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?
Markets

Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?

8 mins read
People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?
Banking

People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?

12 mins read
बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने कहा कि यह स्तब्ध कर देने वाला है कि वैश्विक भूख सूचकांक में भारत की रैंक और घटी है और उसने रैंकिंग के लिए इस्तेमाल की गई पद्धति को ‘‘अवैज्ञानिक’’ बताया। भारत 116 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक (जीएचआई) 2021 में 101वें स्थान पर पहुंच गया है, जो 2020 में 94वें स्थान पर था। भारत अब अपने पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से पीछे है। रिपोर्ट पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा कि यह ‘‘चौंकाने वाला’’ है कि वैश्विक भूख रिपोर्ट 2021 ने कुपोषित आबादी केशेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) कमजोर हाजिर मांग के बीच सटोरियों द्वारा अपने सौदों का आकार घटाने से स्थानीय वायदा बाजार में शुक्रवार को सोने का भाव 501 रुपये घटकर 47,381 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में दिसंबर महीने की डिलिवरी के लिये सोने की कीमत 501 रुपये यानी 1.05 प्रतिशत घटकर 47,381 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इसमें 12,889 लॉट के लिये कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों द्वारा अपने सौदों की कटान करने से सोना वायदा कीमतों में गिरावट आई। वैश्विक स्तर पर न्यूयार्क में सोने की कीमत 0.95 प्रतिशत की गिरावटनयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) हाजिर बाजार में मजबूती के रुख के कारण सटोरियों ने ताजा सौदों की लिवाली की जिससे वायदा कारोबार में शुक्रवार को एल्युमीनियम की कीमत 1.88 प्रतिशत की तेजी के साथ 254.90 रुपये प्रति किलो हो गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर माह में डिलीवरी होने वाले अनुबंध के लिये एल्युमीनियम का भाव 4.70 रुपये यानी 1.88 प्रतिशत बढ़कर 254.90 रुपये प्रति किलो हो गया। इसमें 2,067 लॉट के लिये सौदे किये गये। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में उपभोक्ता उद्योगों की मांग बढ़ने के कारण व्यापारियोंइंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

फ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.मंजूरी मिलने के बाद करूर वैश्य बैंक (Karur Vysya Bank) ने CBDT के साथ इंटीग्रेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। अब बैंक के माध्यम से ग्राहक अपने डायरेक्ट टैक्स का भुगतान कर सकेंगे।बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


आप कैसीनो चिप्स
क्रिकेट की किताबें
लॉटरी जीतने का मंत्र
निर्यात योग्यता
टेक्सास होल्डम जोकर
जमीन पर फुटबॉल कैसे खेलें
बरसात की जानकारी
चेस गेम कैसे खेलते हैं
क्या आपको रूले खेलने के लिए कौशल की आवश्यकता है
स्टेटस कोट्स
एस्पोर्ट्स एनएफटी
betway असली है या नहीं
बकरा वाली
नियम और चट्टान
तीन पत्ती एप्स
करीना का गाना
लूडो फैंसी
गोवा गो
lovebet परिणाम
ऑनलाइन बैकरेट घोटाला
हाथ रम्मी
डॉ। लवबेट डी। हिलर
lovebet 2 मोनेट dazn
lovebet कन्नड़
क्रिकेट live
बैकारेट मनोवैज्ञानिक रणनीति
बैकरेट II