क्लासिक रम्मी स्वागत बोनस कोड

क्लासिक रम्मी स्वागत बोनस कोड

time:2021-10-22 05:37:02 वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा Views:4591

वाइल्डज़ जमा बोनस क्लासिक रम्मी स्वागत बोनस कोड 188bet पगा,casumo यूट्यूब,lovebet 2 मोनेट dazn,lovebet फ़ुटबॉल आज,lovebet पंजीकरण,lovebetी एन.पी,बैकारेट 3 टियर स्टैंड,बैकारेट एल रणनीति,बेल्टवे 8 टोल,भ पोकर,कैसीनो फ़्रैंकैस एन लिग्ने,चा कैसीनो,पीसी के लिए क्रिकेट 3डी गेम डाउनलोड,क्रिकेट स्कोर लाइव,एस्पोर्ट्स लोगो मेकर,फ़ुटबॉल 2021 शेड्यूल,फुटबॉल वेबसाइट नेविगेशन,ज्ञान क्रिकेट,बैकारेट कैसे खेलें ताकि हार न जाए,क्या ऑनलाइन जुआ संभव है?,जंगल रम्मी tpsl,लाइव कैसीनो बिजली पासा,लॉटरी ड्रा,लूडो लॉर्ड ऑल वर्जन,ओडिबेट्स मेगा जैकपॉट बोनस,2 . के लिए ऑनलाइन गेम,ऑनलाइन रियल मनी फाइटिंग जमींदार,परिमच ज़र्कालो,पोकर qq APK,रॉब की क्रिकेट बुक,रम्मी २,रम्मीकल्चर नौकरियां,स्लॉट मशीन.आईटी,स्पोर्ट्स फ़ुटबॉल लाइव,स्टैंड-अलोन बैकारेट गेम डाउनलोड,दुनिया में सबसे अच्छी सट्टेबाजी साइट,यूईएफए चैंपियंस लीग आधिकारिक वेबसाइट,कैश शतरंज के लिए कौन सा बेहतर है?,21 बजे up,ऑनलाइन पैसे बनाएं jk,क्रिकेट की ताज़ा ख़बरें क्या है,गोवा लोकसभा सीट,तीन पत्ती रॉयल गेम डाउनलोड,बकरी बकरी,बैटरी हाउस,स्टेटस एटीट्यूट, .वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

लगातार दूसरा वित्त वर्ष रहा जब गोल्ड ईटीएफ में निवेश हुआ. इससे पहले 2013-14 से गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी देखने को मिली थी.
नई दिल्ली: जोखिम बढ़ने और कोविड-19 महामारी के बीच अनिश्चितता के चलते निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

यह लगातार दूसरा वित्त वर्ष रहा जब गोल्ड ईटीएफ में निवेश हुआ. इससे पहले 2013-14 से गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी देखने को मिली थी. म्यूचुअल फंडों की संस्था एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

इसे भी पढ़ें: किसे सता रहा अमेरिका में महंगाई बढ़ने का डर?

माईवेल्थग्रोथ डॉट कॉम के सह-संस्थापक हर्षद चेतनवाला ने कहा कि इस बात की संभावना काफी कम है कि चालू वित्त वर्ष में भी गोल्ड ईटीएफ में निवेश का यह ट्रेंड जारी रहे. हालांकि, कोरोना की दूसरी लहर ने बाजार को डरा दिया है.

एम्फी के आंकड़ों के अनुसार हाल में समाप्त वित्त वर्ष में निवेशकों ने गोल्ड से जुड़े 14 ईटीएफ में शुद्ध रूप से 6,919 करोड़ रुपये का निवेश किया. यह 2019-20 में हुए 1,614 करोड़ रुपये के निवेश का चार गुना है.

इससे पहले 2018-19 में गोल्ड ईटीएफ से शुद्ध रूप से 412 करोड़ रुपये की निकासी हुई थी. 2017-18 में गोल्ड ईटीएफ से 835 करोड़ रुपये, 2016-17 में 775 करोड़ रुपये, 2015-16 में 903 करोड़ रुपये, 2014-15 में 1,475 करोड़ रुपये और 2013-14 में 2,293 करोड़ रुपये निकाले गए थे.

इसे भी पढ़ें: विदेशी निवेशकों ने अप्रैल में भारतीय बाजार से निकाले 929 करोड़ रुपये

हालांकि, साल 2012-13 के दौरान इस सेगमेंट में 1,414 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था. बीते कुछ सालों से रिटेल निवेशकों ने बेहतर रिटर्न की चाहत में गोल्ड ईटीएफ की तुलना में इक्विटी बाजार में अधिक पैसा डाला है.

क्वांटम म्यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर (ऑल्टरनेटिव इंवेस्टमेंट) चिराग मेहता ने कहा, "अधिक जोखिम और कोरोना वायरस के चलते बढ़ी अस्थिरता का असर इक्विटी जैसे जोखिम भरे एसेट्स को प्रभावित करेंगी. निवेशकों की दिलचस्पी गोल्ड जैसे सुरक्षित एसेट्स में बढ़ सकती है."




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

गोल्ड ईटीएफक्वांटम म्यूचुअल फंडएम्फीशेयर बाजारईटीएफएक्सचेंज ट्रेडेड फंडमाईवेल्थग्रोथ डॉट कॉमकोरोना वायरस

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

फ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.सामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.धनतेरस पर इन 6 चीजों को खरीदना होता है शुभ

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.अपने घर के लिए अगर आप एयर प्यूरिफायर खरीदने जा रहे हैं तो कुछ बातों को जान लेना जरूरी है. यहां हम उन्हीं के बारे में बता रहे हैं.फ्रैंकलिन टेम्पलटन एमएफ से आपको अपना निवेश कब निकालना चाहिए?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
शतरंज 800 रेटिंग

अपने घर के लिए अगर आप एयर प्यूरिफायर खरीदने जा रहे हैं तो कुछ बातों को जान लेना जरूरी है. यहां हम उन्हीं के बारे में बता रहे हैं.

विश्व कप फुटबॉल ऑड्स नेटवर्क

पिछले सप्ताह फोर्ड इंडिया ने एक जनवरी से अपने विभिन्न मॉडलों की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की थी.

रम्मी के प्रकार

फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी ने कहा कि वह व्हॉट्सएप पर एक नया शॉपिंग बटन पेश कर रही है जिससे लोगों को बिजनेस कैटलॉग खोजने में आसानी होगी.

स्पोर्ट्स साइकिल

सरकार ने शुक्रवार को ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियों के ऊपर मांग बढ़ने पर किराए बढ़ाने की एक सीमा लगा दी है.

10cric क्रिकेट

पिछले सप्ताह फोर्ड इंडिया ने एक जनवरी से अपने विभिन्न मॉडलों की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की थी.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी